You are here
Home > Nation > लालू के लाड़ले के बिगड़े बोल…..

लालू के लाड़ले के बिगड़े बोल…..

0Shares

बिहार में राजनीतिक बयानबाज़ी का स्तर दिन पे दिन गिरता जा रहा है पहले नित्यानंद पांडेय और फिर पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में अशोभनीय टिप्पणी की बिहार में नरेंद्र मोदी की ऊँगली और गला काटने वाले बहुत से लोग है । उसके बाद अब लालू जी के बड़े पुत्र और बिहार के पूर्व स्वास्थ मंत्री तेजप्रताप यादव का शुशील मोदी के घर में घुस के मारने की बात करना बिहार में राजनीतिक बयानबाज़ी के स्तरहीनता को बयां करता है।

तेजप्रताप यादव एक सभा को सम्भोधित करते हुवे राजीनीति और भाषा की सारी मर्यादा भूल बैठे । उन्होंने कहा की हमको ये अपने बेटवा की शादी में नेवता दिए खातिर फ़ोन किये रहे, उनको ये पता नहीं की हम शेर है हम उनके घर में घुस के मारेंगे और वही सभा करेंगे । सभी रिस्तेदार और आगंतुकों के सामने ही उनकी बेइजती करेंगे ।

सुशिल मोदी जी से जब इसके बारे में बात किया गया तो उनका जबाब कुछ ऐसा था: सत्ता जाने के बाद ये उनकी निराशा है जो कभी किसी रूप में तो कभी किसी रूप में आता है तो कभी कृष्ण बनते है तो कभी बासुरी बजाते तो कभी कुछ भी। बिहार सकरार का पूरा फोकस बिहार के विकाश पे है और इन लोगो के पास कोई मुद्दा नहीं है इसलिए लिए ऐसी बेतुकी बात कर रहे है।

झारखण्ड चारा घोटाले की सुनवाई के लिए आये जब लालू यादव से पत्रकारों ने इसके बारे में सवाल किया तो उन्होंने कहा की शुशील मोदी चिन्तामुक्त होकर बेटे की शादी करे तेजप्रताप यादव कुछ भी नहीं करेंगे। अब देखना ये है की आने वाले दिनों में बिहार में राजनितिक बयानबाज़ी का दौर कहा तक चलता है और कितनी मर्यादाये लांघि जाएँगी ।

Top