You are here
Home > Latest news > प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नीच किस्म के आदमी है : कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नीच किस्म के आदमी है : कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर

0Shares

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने आज एक विवादित और शर्मनाक बयान देश के प्रधामंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में दिया । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर का उद्घाटन करते समय राहुल गाँधी पर हमला बोलते हुए कहा की कांग्रेस पार्टी के लोग बाबा साहेब की बात करते करते अब बाबा भोलेनाथ की बात करने लगे है । बाबा साहेब की उपलब्धियों को भुलाने का काम कांग्रेस के लोगो ने आज तक किया ।

इसी का जबाब देते हुए मणिशंकर अय्यर शब्दों की मर्यादा भूल बैठे और प्रधानमंत्री के बारे में अपशब्द बोलते हुए उन्होंने कहा की बाबा साहेब के सपनो को यदि कोई साकार किया तो वो जवाहर लाल नेहरू और कांग्रेस पार्टी ने किया । ऐसे दिन पर प्रधामंत्री को ऐसी भाषा नहीं बोलनी चाहिए । इनके पास कोई सभ्यता नहीं है, ये बहुत नीच किस्म के आदमी है ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सूरत के लिंबायत में मणिशंकर जी को आड़े हाथो लेते हुए कांग्रेस को घेरा “श्री मान मणिशंकर जी, हमें नीच जाती का आदमीं कहते है, गुजरात को नीच कहते है, हमें नीच कहते है, ये सामंतवादी लोग है, इन्हे आपका जीतना, हमारा जीतना अच्छा नहीं लगता है, इन्ही लोगो ने मुझे मौत का सौदागर भी कहा था । क्या हमारी यही परंपरा है ? लेकिन आप लोग अपना संयम मत छोड़िएगा, और इसका जबाब कमल का बटन दबाके दीजियेगा । गुजरात की संताने इसका जबाब कांग्रेस को गुजरात में हरा के देंगी ।

आपको बता दे की मणिशंकर अय्यर ने 2014 के चुनाव से पहले भी एक विवादित बयान दिया था जिसको भाजपा ने खूब भुनाया था । तब मणिशंकर जी ने कहा था की “नरेंद्र मोदी चाय बेचते थे और उनका मन करे तो कांग्रेस के राष्ट्रिय कार्यकारणी के सम्मलेन में चाय की दुकान खोल ले, जिसपे भाजपा ने ना सिर्फ कांग्रेस को आड़े हाथो लिया, साथ ही चाय पे चर्चा का कैम्पेन भी चलाया । आज गुजरात चुनाव के पहले फेज़ के वोटिंग प्रचार का अंतिम दिन है और मणिशंकर जी अपनी ही तरफ गोल मार रहे है ।

राहुल गाँधी और गुजरात कांग्रेस चुनाव जितने के लिए पूरा दम लगा रही है और कांग्रेस के बड़े नेताओ के ये विवादित बयान कांग्रेस को ही भारी पड़ सकते है । 2007 गुजरात चुनाव के समय सोनिया गाँधी का एक बयान कांग्रेस पर बहुत भारी पड़ा था, जिसमे उन्होने नरेंद्र मोदी को तो मौत का सौदागर तक कह दिया था, इसी को मुद्दा बना कर बीजेपी 2007 का पूरा चुनाव लड़ी और उसे 2007 में बड़ी जीत मिली । इस बार कोंग्रस बहुत संभल कर बयानबाज़ी कर रही थी लेकिन देखते है मणिशंकर जी का ये बयान गुजरात चुनाव पर क्या असर छोड़ता है ।

Top